काश मैं वो बारिश की बूँद होता

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो आपके कन्धों पर बैठ के एक और बार दुनिया देख पाता,

आपकी साइकिल पर बैठ सैर कर पाता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो आपके सीने पर एक और बार सो पाता,

आपकी सोंधी सी खुशबू महसूस कर पाता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो फिर किसी मैदान में कोई खेल खेल पाता,

आपसे जीतने की वो बचपन की ख़ुशी को दुबारा जी पाता…

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो स्कूल न जाने का बहाना ढूंढ पाता,

और घंटो आपके साथ मस्ती कर पाता…

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो फिर आपसे अनगिनतक्योंक्योंकर सवाल कर पाता,

मेरे हर बचकाने सवाल पर आपका सहज सा जवाब सुन पाता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो एक आखिरी बार आपके पास बैठ कर आपकी हर बात सुन पाता,

आपके सारे अनकहे अनसुने दुःख बाँट पाता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो आपकी हथेलियों पर फिर से खड़ा हो पाता,

और उन्ही हथेलियों की रेखाओं को बदल देता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो हर उस गवाएं पल के लिए आपके गले लग पाता,

और शायद एक बार ही सही पर रो पाता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो भगवान् से लड़ जाता,

और हमेशा के लिए अपने पास रोक लेता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो आपके आखिरी पलों में आपके साथ होता,

आपमें समां कर आपके साथ ही इस दुनिया से चला जाता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

तो स्याही बन कर आपके लिखे हुए शब्द बन जाता,

और दुनिया से जाने के बाद भी आपका नाम अमर कर जाता

 

काश मैं वो बारिश की बूँद होता,

काश मैं वो बारिश की बूँद होता

मानससमीरमुकुल

I have previously written a poem with the same name with a romantic angle – Read here – “Kaash main wo baarish ki boond hota”

This blog is a part of the #BirthdayBlogTrain hosted by Gunjan Upadhyay http://tuggunmommy.com/ and Neha Sharma http://growingwithnemit.com/.

I would like to thank Nisha from https://www.thefantasticmommy.com/ for introducing me to this blog train and would further like to introduce Silja Nair from https://vijvihaar.in/ to share her take on the prompts.

Advertisements

66 thoughts on “काश मैं वो बारिश की बूँद होता

  1. Manas I can feel your pain and your pride in your father. You have beautifully captured the emotion and done a fantastic job with the poetic scheme. Also, a thoroughly creative take on the prompt. This is a winning entry on many scores!

    Liked by 1 person

  2. And so it is, life as we all envision but seldom seek. Very few have the courage to be different, to challenge the routine.
    Your words are beyond any imagination for they are the twigs you will keep on picking and cherishing till you are alive. And this bond (father-son) is much more than we can ever express in any way possible. Having said that, you don’t need any judgement or seal for this one for it’s an award for all the memories you carry within.

    Liked by 1 person

  3. This was intense, Manas, I shed a tear while reading it. I can only imagine what a beautiful bond you shared with your father. And, it would have been a lot painful to put down these words out here.

    Liked by 1 person

  4. काश मैं भी एक बारिश की बूंद होता

    संग संग तेरे मैं भी रहता

    मैं बस सुनता जाता तेरी

    तू बस मुझसे कविता कहता

    भाई आपने बहुत ही प्यारा लिखा है

    Liked by 1 person

  5. This is all I felt as I lost my mother to an incurable deadly lung fibrosis. I had been lucky to be around her 24/7 in her last few months. But that’s all I have. I miss her a lot more than I could ever express to anyone. She was the pillar and the foundation of my being. Your post made me cry, it gave me a flashback of all the memories I shared my mum. I totally understand your feelings and the bond that you shared with your dad. Your emotions are depicted by every word written by you. Manas you are a great poet indeed.

    Liked by 1 person

    • I could see each n every scene myself n hence the words flowed. Thank you so much for understanding and appreciating. Ironically I write very few poems… As I feel I am not good at them.

      Like

  6. भावनाओं से ओतप्रोत शब्दों का बहाव बहुत खूब है,
    अति सूंदर रचना बहुत ही खूबसूरत लिखा है आपने
    सावन और भावनाओं का बहुत सुन्दर मेल है इस कविता में

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.